Home / बुन्देलखण्ड / उत्तर प्रदेश / झांसी / स्वास्थ्य विभाग की सिरिंज, जमीं खा गई या आशमां निगल गया

स्वास्थ्य विभाग की सिरिंज, जमीं खा गई या आशमां निगल गया

मोंठ/झांसी – सुबे की वर्तमान सरकार द्वारा गरीबों को स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए करोड़ों रुपए की लागत से कई योजना चलाई जा रही है, मुख्यमंत्री द्वारा गरीब जनता को बेहतर स्वास्थ सेवाएं देने की पूर्णत: कोशिश भी की जा रही है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के कुछ कर्मचारी प्रदेश के मुख्यमंत्री की सोच को पलीता लगाते नजर आ रहे हैं, जी हाँ हम बात कर रहे हैं, समुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मोंठ की जहाँ एक मामला कुछ ऐसा भी नजर आया, टाइम समाचार की टीम के संज्ञान में जैसे ही यह मामला आया तो उन्होंने तुरंत पूरा मामला अपने कैमरे में कैद कर लिया। जिसमें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोंठ में कस्बा की एक 40 वर्षीय महिला बीमारी से पीड़ित इलाज कराने मोंठ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुँची, जहां चिकित्सक ने उसे एक इंजेक्शन लगवाने के लिए लिखा था, जब महिला दवा वितरण काउंटर पर पहुंची तो उसे वहां के कर्मचारियों ने बाहर का रास्ता दिखा दिया और वाहर से सिरिंज लाने की बात कही, जिसपर महिला मिन्नतें करती रही, लेकिन उसकी एक न सुनी गई, आखिर थक हारकर महिला ने वाहर से सिरिंज लाकर इंजेक्शन लगवाया, सवाल यह उठता है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा स्वास्थ्य की बड़ी-बड़ी बातें कही जा रही है, लेकिन उन्हीं की मशीनरी द्वारा गरीबों की चमड़ी उधेड़ी जा रही है और सोच को पलीता लगाया जा रहा है, वही एक सवाल यह भी उठता है कि संबंधित विभाग द्वारा आई सिरिंजों को जमी खा गई  या आशमा निगल गया, अब देखना यह होगा कि आखिर मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा कोई कार्यवाही की जाती है या फिर यूँ ही स्वास्थ्य विभाग कर्मचारी वर्तमान मुख्यमंत्री के आदेशों की अवहेलना करते रहेंगे।

REPORT DHEERENDRA RAYKWAR

About time samachar

Check Also

यहां चला अतिक्रमण पर सयुक्त डंडा

समथर (झांसी):- शासन प्रशासन की दिशा निर्देश के तहत कस्बा समथर के बाजार वाले हिस्से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *