Home / बुन्देलखण्ड / उत्तर प्रदेश / झांसी / इस तरह भाजापा को आगामी चुनाव में खानी पड़ सकती है मुंह की

इस तरह भाजापा को आगामी चुनाव में खानी पड़ सकती है मुंह की

समथर/झांसी – समथर में आज पहाड़पुरा साधन सहकारी समिति के चुनाव में भाजपा के दो गुटो सामने आए तो वही पर दोनों गुटों में से अलग -अलग प्रत्यशियो ने अध्यक्ष के पद के लिए दावेदारी की ओर सदस्यों को रिझाने के लिए अपने अपने पैतरे चल कर एक दूसरे पर कटाक्ष करते हुए चुनाव मैदान में उतरे तो वहीं पर कुछ पदाधिकारी नेताओं से बात की तो पद अधिकारी ने दो ग्रुप में भाजपा पार्टी का विभाजन कर दिया है, एक नेता जो मंडल का नेतृत्व कर रहे है, उन्होंने भाजपा में दो ग्रुप की बात को नकारते हुए कहा कि यह सब पार्टी के द्वारा निष्पक्ष चुनाव कराया जाता है, लेकिन साकिन और समथर समिति पर दबदबा जिला पंचायत सदस्य का रहा है, और उन्होंने अपने दोनों प्रत्यशियो को विजय कराया विपक्ष भाजपा के प्रत्याशी वीर सिंह ने मानी हार।

पूरा मामला—

समथर कस्बा की पहाड़पुरा साधन सहकारी समिति के अध्यक्ष पद के दावेदारों का मामला है, जहां देखने को मिला भाजपा के दो गुटों से आमने-सामने प्रत्याशियों को उतारा, जिसमें बताया जा रहा कि वीर सिंह राजपूत जो कि पार्टी की ओर से दावेदार बन कर आये थे, तो वहीं पर शिशुपाल सिंह पहाड़पुरा अध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी बनाये गए थे, जो कि शिवेंद्र प्रताप सिंह जिला पंचायत सदस्य के प्रत्याशी माने जा रहे थे, वहीं पर भाजपा पार्टी के कुछ पदाधिकारी नेताओं का आरोप है, भारतीय किसान संघ के प्रांतीय नेता ने आरोप लगाते हुए कहां की पार्टी की गतिविधियां सही नहीं है, और भाजपा पार्टी में दो ग्रुप है, पार्टी को दो भागों में बांट दिया गया है, इसीलिए यहां पर दोनों प्रत्याशी आमने-सामने हैं,

किसको कितने मिले वोट—-

पहाड़पुरा सहकारी सदन समिति के अध्यक्ष पद के लिए भाजपा के दो प्रत्याशी आमने सामने थे, जिसमें एक प्रत्याशी शिशु पाल सिंह को पाँच मत प्राप्त हुए, वहीं वीर सिंह राजपूत को चार मत ही मिल सके, एक मत से धराशाई हुए वीर सिंह राजपूत और शिवेन्द्र प्रताप ने अपने प्रत्याशी को विजय करा लिया, पार्टी की ओर से आये वीर सिंह को मुँह की खानी पड़ी।

हारे हुए अध्यक्ष पद प्रत्याशी के द्वारा ही लगे आरोप—-

हारे हुए अध्यक्ष पद के प्रत्याशी वीर सिंह के द्वारा आरोप लगाया गया है, कि भाजपा पार्टी के शिवेंद्र प्रताप सिंह के विरोध के कारण ही अध्यक्ष पद की रेश से निकाल दिया गया है, और भाजपा पार्टी के लोगों के द्वारा ही भाजपा पार्टी का निसकासन किया जा रहा है, भितरघात करने वालो की पार्टी में कोई कमी नहीं है, आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी का बहुत ज्यादा नुकसान होगा, पार्टी के जिला के भाजपा पद अधिकारीयो को इस विषय में भी जानकारी प्राप्त कराई जाएगी,

साकिन साधन सहकारी हुआ निर्विरोध चुनाव—-

समथर के समीप साकिनसहकारी समिति के चुनाव में पूरन सिंह को निर्विरोध चुना गया है निर्वाचन अधिकारी आफताब कुमार सहायक निर्वाचन अधिकारी संतराम सचिव राजवीर सिंह यादव मौजूद रहे। 

रिपोर्ट यशपाल सिंह

About time samachar

Check Also

यहां चला अतिक्रमण पर सयुक्त डंडा

समथर (झांसी):- शासन प्रशासन की दिशा निर्देश के तहत कस्बा समथर के बाजार वाले हिस्से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *