Breaking News
Home / बुन्देलखण्ड / उत्तर प्रदेश / झांसी /  रेलवे चिकित्सालय के सीएमएस पर चला सतर्कता विभाग का डंडा 

 रेलवे चिकित्सालय के सीएमएस पर चला सतर्कता विभाग का डंडा 

झाँसी | रेलवे अस्पताल के चीफ मेडिकल सुप्रीडेंडेट डॉ आलोक श्रीवास्तव का स्थानांतरण सतर्कता बोर्ड की जांच में दोषी पाय गए | मामला रेलवे ड्राइवरों को मिर्गी की बीमारी दिखाकर डीकैटेग्राइज करने का दोषी पाया गया | डीकैटेग्राइज करने पर रेल ड्राइवर को रेलगाडी नहीं चलानी पड़ती है और उन्हें क्लर्क विभाग में लगा दिया जाता है | जिससे आराम से उन्हें सरकारी नौकरी का लाभ मिलता रहे | पिछले दो वर्षों में लगभग पच्चीस मामले सामने आये हैं | डॉ आलोक श्रीवास्तव का कार्यकाल हमेशा विवादों से घिरा रहा है | हाल ही में झाँसी रेलवे चिकित्सालय में पदस्थ महिला डॉक्टर की नाइट ड्यूटी लगाकर शोषण करने का आरोप भी इन पर लगाया था | जिसकी शिकायत महिला डॉक्टर ने उच्च अधिकारियों से की थी | रेल ड्राइवर से लाखों रुपए लेने के मामले की जांच सीबीआई कर रही है | अब उनका स्थानांतरण पश्चिम रेलवे में कर दिया गया है |

About Time Samachar

Check Also

महिला मंडल द्वारा प्रमाण पत्रों का किया गया वितरण

धीरेन्द्र रायकवार टाइम समाचार ब्यूरो रिपोर्ट झांसी मोठ/झांसी – मोंठ ब्लॉक के ग्राम अमरौख में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *