Breaking News
Home / बुन्देलखण्ड / मध्य प्रदेश / टीकमगढ़ / विश्व प्रसिद्ध राम राजा सरकार मंदिर के क्लर्क का कारनामा ,मंदिर में करोड़ों की हेराफेरी और महिला भक्तों से छेड़छाड़ करने का आरोप ,मामला दर्ज

विश्व प्रसिद्ध राम राजा सरकार मंदिर के क्लर्क का कारनामा ,मंदिर में करोड़ों की हेराफेरी और महिला भक्तों से छेड़छाड़ करने का आरोप ,मामला दर्ज

टीकमगढ़। ओरछा में विश्व प्रसिद्ध राम राजा मंदिर से करोड़ों रुपये गबन करने के आरोप में सरकारी क्लर्क के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. साथ ही 46 साल के इस क्लर्क पर महिला भक्तों के साथ दुराचार करने के आरोप लगाया गया है.

(एसडीएम) आदित्य सिंह ने बताया है कि जिला प्रशासन के क्लर्क मुन्नालाल तिवारी के खिलाफ दर्ज किये गये हैं. उन्होंने कहा है, ”इस मंदिर में उसकी पोस्टिंग साल 1997 में की गई थी. तब से लेकर अब तक वह इस मंदिर को दान के रूप में श्रद्धालुओं से प्राप्त हुए नकदी के अलावा सोने-चांदी जेवरातों और हीरे से जड़े हुए चीजों का लेखा-जोखा रखते थे. सिंह ने बताया है कि उसके खिलाफ शिकायत मिलने के बाद जिला प्रशासन ने जांच-पड़ताल की और जांच में वह दोषी पाया गया. इसके बाद ओरछा पुलिस में इस क्लर्क के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई.

क्लर्क मुन्नालाल तिवारी

इन धाराओं में दर्ज हुआ मामला 

और छाती आई डी डी आजाद ने बताया एसडीएम आदेश सिंह की शिकायत पर मंदिर के क्लर्क मुन्ना तिवारी पर धारा 409,425, 426 ,420 ,467, 468 ,471, 493 ,497 आईपीसी की धारा में मामला दर्ज किया गया है उनका कहना था कि मामले की जांच की जा रही है जांच के बाद आगामी कार्यवाही की जाएगी।

जांच में यह मिली गड़बड़िया

SDM आदित्य सिंह ने बताया की जांच के दौरान कई तरह की अनियमितताएं मिली जिसमें मंदिर में आने वाली सामग्री भगवान की पोशाक के साथ ही सुबह शाम लगाए जाने वाले भोग में हेराफेरी पाई गई इसके साथ ही श्रद्धालुओं द्वारा किए गए दान में भी गड़बड़ी सामने है SDM का कहना है कि क्लर्क मुन्ना भंडारी उर्फ मुन्ना तिवारी के द्वारा नायब तहसीलदार के भी फर्जी हस्ताक्षर किए गए थे जांच के दौरान संबंधित नाथ तहसीलदार के द्वारा शपथ पत्र देकर बताया गया है कि दस्तावेजों पर उनके हस्ताक्षर नहीं है मंदिर में बनाए जाने वाले प्रसाद से लेकर भोजन की सामग्री में अनिमिक्ता के साथ ही मंदिर की दुकानें और श्रद्धालुओं को दी जानेवाली लकीरों में भी गड़बड़ी पाई गई है जांच के दौरान पीड़ित महिलाओं ने उपस्थित होकर मुन्ना तिवारी पर चरित्र हनन के आरोप लगाए थे जिसके संबंध में कुछ प्रमाण मिले हैं मामले में जांच प्रतिवेदन कलेक्टर को दिए जाने के बाद उनके निर्देश पर FIR कराई गई है.

 

महिलाओं से अश्लील हरकत के फुटेज मिले 

लिपिक पर दो शादीशुदा महिलाओं के साथ अश्लील हरकतें करते करने का आरोप सिद्ध पाया गया है इस संबंध में जांच अधिकारी के साथ लिपिक के कुछ अश्लील फुटेज भी हाथ लगे हैं इसके अलावा एक युवती को शादी का झांसा देकर लिपिक ने छेड़छाड़ की है इस मामले की जांच अभी चल रही है जल्दी महिलाओं की शिकायत पर लिपिक के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला भी दर्ज किया जाएगा

एफआईआर के बाद फरार लिपिक तलाश शुरू 

रविवार को ओरछा थाना क्षेत्र में पुलिस ने क्लर्क मुन्नालाल तिवारी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया इसके बाद से ही वह फरार हो गया इसके पहले शनिवार रात पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए बुलाया था लेकिन बाद में पुलिस ने उसे छोड़ दिया था ओरछा थाना प्रभारी DD  आजाद ने बताया कि क्लर्क की तलाश की जा रही है फिलहाल लिपिक रविवार से ही फरार हो गया है

तहसीलदार के ऊपर भी हो सकती है कार्यवाही 

स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मामले में मंदिर के प्रबंधक तहसीलदार गुलाब सिंह बघेल के खिलाफ भी कार्रवाई होना चाहिए मैं लंबे समय से मंदिर के पदेन व्यवस्थापक हैं उनके कार्यकाल में लगातार गड़बड़ियां होती रही लेकिन प्रबंधक होने के नाते उन्होंने ध्यान नहीं दिया।  सिंह ने बताया कि अब तक की जांच से कलेक्टर को अवगत कराया गया है तहसीलदार पर कारवाई करने का भी अधिकार उच्य अधिकारियों को है बे इस मामले पर एक्शन लेंगे।

बंद रहता था गुप्तदान पात्र का कैमरा 

एसडीएम ने बताया है सबसे चौकाने वाली बात यह की मंदिर में पल-पल की निगरानी के लिए लगे 20 सीसी टीवी कैमरे में से केवल दानपात्र का ही कैमरा नहीं चालू है जिससे साफ होता की पुरे मामले झोल था।

जाँच से संतुष्ट नही है लोग 

आस्था के केंद्र रामराजा मंदिर में लंबे समय से की जा रही अनियमितताओं की कार्रवाई में प्रबंधन देख रहे क्लर्क पर FIR को लेकर शिकायतकर्ता और स्थानीय लोगों में नाराजगी है लोगों का कहना था की मंदिर की प्रत्येक गतिविधि पर व्यवस्थापक रहने वाले पदेन तहसीलदार की जवाब देही रहती है आखिर धोखा धड़ी और अनिमिक्ता के मामले में और लोगों की मिलीभगत पर जांच के दौरान पर्दा क्यों डाला जा रहा है लोगों का कहना है कि अधिकारियों के द्वारा जानबूझकर ढिलाई बरती जा रही है।

About Time Samachar

Check Also

मानसिक विकार ग्रस्त व्यक्तियों में सर्वाधिक संख्या युवाओं की- प्रो. ज्ञानेन्द्र कुमार

झाँसी | समाज कार्य मानवीय मूल्यों पर आधारित समाज के निर्माण में अपना महत्वपूर्ण भूमिका का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *