Home / बुन्देलखण्ड / उत्तर प्रदेश / झांसी / झाँसी जल संस्थान में कागजों की बाजीगरी से चरम पर भ्रष्टाचार

झाँसी जल संस्थान में कागजों की बाजीगरी से चरम पर भ्रष्टाचार

झाँसी | बुंदेलखंड के झाँसी डिवीजन जल संस्थान में उत्तर प्रदेश शासन के मंशानुरूप कार्य किया जा रहा है | विभाग में सेवारत कर्मचारियों तथा अधिकारियों के सगे-सम्बन्धियों को ठेके उपलब्ध कराये जा रहे हैं |
झाँसी जल संस्थान के महाप्रबंधक बी एन द्धिवेदी द्धारा उतर प्रदेश शासन की नियमावली के नियम १९ पैरा-4 के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं | हमेशा विवादों में रहा जल संस्थान विभाग वर्षों से नियमों को ताक पर रखकर अपने सगे समबन्धियों और रिश्तेदारों की फार्मों से ठेकेदारी करा रहा है |
भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष रानू देवलिया ने आज पत्रकारवार्ता के दौरान जानकारी देते हुए बताया कि जल संस्थान में कार्य कर रहे ”अवर अभियंता प्रवीण कुमार यादव” के ”सगे भाई प्रमोद यादव” की फर्म ”साकार कन्स्ट्रक्शन झाँसी”, जल संस्थान में कार्यरत ”चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संजीव साहू” के सगे भाई ”कैलाश साहू (पूर्व विधायक बसपा)” की फर्म ”श्री बालाजी बिल्डर्स झाँसी” तथा ”इनकी भाभी प्रियंवदा साहू पत्नी कैलाश साहू (पूर्व विधायक बसपा)” की फर्म ”शिव इंटरप्राइजेज झाँसी”, जल संस्थान में ही कार्यरत ”चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बलदेव सिंह” के सगे पुत्र की ”फर्म ”परिहार ट्रेडर्स झाँसी” और जल संस्थान में ही कार्यरत ”मेहर प्रकाश वर्मा” ने अपनी ”पिता रामगोपाल वर्मा” की फर्म ”मेहर इंजीनियरिंग वर्क्स झाँसी” को मनमाने तरीके से झाँसी जल संस्थान का ठेकेदारी कार्य सौंपा गया था | जो उतर प्रदेश शासन की नियमावली के नियम १९ पैरा-4 के नियमों के विरुद्ध है |

अंधेर नगरी चौपट राजा

जल संस्थान की कार्यशैली को देखकर अंधेर नगरी चौपट राजा का माहौल प्रतीत होता है | कई बार जल संस्थान के महाप्रबंधक पर भ्र्ष्टाचार और घोटालों के आरोप लगते रहे हैं | लेकिन उच्च अधिकारियों की उदासीनता के कारण आज तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही प्रकाश में नहीं आयी है | भ्र्ष्टाचार के चलते ही जल संस्थान के तत्कालीन सचिव राघवेंद्र कुमार का स्थानांतरण अभी तक रुका पड़ा है |

About timesamachar

Check Also

यहां चला अतिक्रमण पर सयुक्त डंडा

समथर (झांसी):- शासन प्रशासन की दिशा निर्देश के तहत कस्बा समथर के बाजार वाले हिस्से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *