Home / बुन्देलखण्ड / उत्तर प्रदेश / झांसी / एम्बुलेंस में ऑक्सीजन की कमी से किशोरी ने तोड़ा दम :झाँसी में बदहाल स्वास्थ्य सेवा।TimeSmachar।

एम्बुलेंस में ऑक्सीजन की कमी से किशोरी ने तोड़ा दम :झाँसी में बदहाल स्वास्थ्य सेवा।TimeSmachar।

समय पर ऑक्सीजन मिलने से बच सकती थी किशोरी की जान
(विलाप करते परिजन)
झाँसी । जहाँ गोरखपुर में ऑक्सीजन न मिलने से हुई कई बच्चों की मौत के बाद झाँसी में 108 नंबर एम्बुलेंस में ऑक्सीजन न मिलने से एक किशोरी की मौत हो गई.. परिजनों ने एम्बुलेंस के स्टाफ पर खाली ऑक्सीजन सिलेण्डर का मॉस्क लगाने का आरोप लगाया है।परिजनों की मानें तो समय पर ऑक्सीजन मिलने से किशोरी की जान बच सकती थी। हांलाकि पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है
परिजनों ने स्वाथ्य विभाग पर लगाया आरोप 
ऑक्सीजन की उपलब्धता को लेकर भले ही सूबे के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सख्त हो। लेकिन स्वास्थ्य सेवाएं लोगो को प्रदान करने में अपनी अहम भूमिका निभाने वाले स्वास्थ्य कर्मी मुख्यमंत्री के आदेशों के प्रति उदासीन नजर आते है। शुक्रवार की सुबह थाना प्रेमनगर क्षेत्र के अन्तर्गत रहने वाली किशोरी रानी यादव ने फांसी लगाकर जान देने का प्रयास किया। लेकिन तत्काल जानकारी मिलने पर परिजनों सहित अन्य स्टाफ को किशोरी छटपटाते मिली। जिसे उन्होंने गंभीर हालत में फांसी के फंदे से उतार लिया। जिसके बाद उन्होने 108 नंबर एम्बुलेंस को फोन करके बुलाया। जानकारी मिलने पर पहुंची 108 नंबर एम्बुलेंस से उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल लगा गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने आरोप लगाया कि अस्पताल लाने के दौरान किशोरी की हालत बिगड़ने पर उन्होंने स्टाफ से ऑक्सीजन लगाने की बात कही थी। जिस पर पहले तो स्टाफ टाल मटोल करता रहा। लेकिन हालत बिगड़ते देख उन्होंने ऑक्सीजन का मॉस्क लगा दिया। जिससे थोडी देर ऑक्सीजन मिलने के बाद बंद हो गई। जिसके बाद उनके बार बार कहने पर उन्हें जानकारी मिली कि ऑक्सीजन सिलेण्डर खाली है। जिसमें ऑक्सीजन नहीं है। परिजनों का कहना है कि अगर ऑक्सीजन समय पर मिल जाती तो रानी यादव (15) की जान बच सकती थी।
सीएमओ ने दिए जाँच के आदेश 
झाँसी सीएमओ डा सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि अभी तक ऐसा कोई मामला संज्ञान में नहीं आया है।एम्बुलेंस में ईधन व ऑक्सीजन की जिम्मेदारी प्राईवेट कंपनी की रहती है। उन्होंने बताया कि एम्बुलेंस में प्रशिक्षित स्टाफ रहता है। उन्होंने बताया कि मामला संज्ञान में आने पर जांच कराई जाएगी। दोषी पाये जाने वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने और विधिक कार्रवाई की जाएगी।

About timesamachar

Check Also

यहां चला अतिक्रमण पर सयुक्त डंडा

समथर (झांसी):- शासन प्रशासन की दिशा निर्देश के तहत कस्बा समथर के बाजार वाले हिस्से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *